,

भीड़ में दबकर मर जाते है 4-5 लोग इस एक्टर की फिल्मों के टिकट के लिए – कौन है यह एक्टर!

जाने कौन है वो एक्टर, जिनकी फिल्मों की टिकट के लिए पड़ती है भीड़!

आज हम एक ऐसे एक्टर के बारे में बात करने वाले है जिनकी फ़िल्में देखने के लिए टिकट लेते समय 4-5 लोग तो भीड़ में दबकर ही मर जाते है आंध्रप्रदेश के सिनेमा मतलब तेलुगू भाषा वाली फिल्मों के सुपरस्टार चिरंजीवी ने 2007 में प्रदर्शित हुई फिल्म “शंकर दादा एमबीबीएस” के बाद से फ़िल्में करना छोड़ दी थी इस बीच उन्होंने प्रजा राज्यम पार्टी बनाई थी फिर कांग्रेस में शामिल हुए, पर्यटन राज्यमंत्री बने राज्यसभा सांसद बने

इन महत्वाकांक्षाओं को पूरा करने के लिए उनके पास फिल्मों के लिए समय नहीं था और फिर 10 बरस बाद जनवरी में उनकी कमबैक फिल्म आयी – “कैदी नंबर 150” यह नाम इसलिए रखा क्योंकि यह उनकी 150 वीं फिल्म थी इस साल चिरंजीवी को फिल्मों में आये 41 साल हो चुके है उनकी अधिकतर फ़िल्में तेलुगू में रही है चलिए जानते है अब इनसे जुड़े 5 क़िस्से और अन्य बातें

#1. सलमान से गहरी दोस्ती

सलमान खान और चिरंजीवी गहरे दोस्त है इन दोनों ने थम्स अप का विज्ञापन साथ में ही शूट किया था चिरंजीवी तब से ही फिल्म इंडस्ट्री के लोगों के साथ पार्टियाँ नहीं करते है लेकिन सलमान अकेले है जो उनसे ऐसा करवा लेते है चिरंजीवी के बेटे राम चरण तेजा कहते है की सलमान ही है जो मेरे पिता को युवा बना देते है

#2. हनुमान भक्त, जहाँ से मिला फ़िल्मी नाम

चिरंजीवी का असली नाम सिवा संकर वरा प्रसाद है जब वे फ़िल्मी दुनिया में आने के लिए अपने लिए नया नाम सोच रहे थे तो उन्हें सपना आया की एक बुजुर्ग आदमी और एक लड़की उन्हें चिरंजीवी नाम से पुकार रहे है उन्होंने यह बात अपनी माँ को बतायी जो हनुमान भक्त रही है और उनकी माँ ने इस नाम के लिए हाँ कर दी

#3. आकर्षण का केंद्र बनना था, तो बने एक्टर

जब चिरंजीवी छोटे थे तो उन्हें आकर्षण का केंद्र बनना अच्छा लगता था 70 के दशक में उन्होंने एक्टर बनने की ठान ली कुछ नाटकों में काम किया, फिर मद्रास के एक इंस्टिट्यूट में एक्टिंग सीखने लगे 1978 में कोर्स खत्म किया और पहली फिल्म की शूटिंग शुरू कर दी करियर के ज्यादातर समय तक चिरंजीवी की एक फिल्म खत्म होने और दूसरी फिल्म शुरू होने में 10 दिन से ज्यादा का फर्क नहीं रहता था

#4. हैलेन के कारण बने अच्छे डाँसर

साउथ के स्टार्स में सबसे ज्यादा चिरंजीवी के डांस को पसंद किया जाता है लेकिन उन्होंने कभी डांस सिखा नहीं उन्होंने हिंदी फिल्म की एक्ट्रेस हैलेन को “पिया तू अब तो आजा” गाने पर नाचते देखा और तब से नाचने लगे फिर लगातार घर के सदस्यों के सामने नाचने लगे इससे उनका हौसला बढ़ता गयाऔर हैलेन के कारण ही वे डाँसर बने

#5. फिल्मों की ऐसी दीवानगी की लोग मारे जाते है

उनके प्रति इतनी दीवानगी है की आप अंदाजा भी नहीं लगा सकते उनकी नई फिल्मों की रिलीज़ के पहले ही दिन टिकट के लिए इतनी भीड़ पड़ती है की लोग भगदड़ में मारे जाते है 2003 में आयी उनकी फिल्म टैगोर के दौरान भगदड़ में 4 लोग मारे गए एक बार एक फैन उनके पास आकर उन्हें छूने की कोशिश कर रहा था और उसे बिजली का झटका लग गया

तो दोस्तों इस अभिनेता के प्रति लोगों की ऐसी दीवानगी है जिसका अंदाजा लगाना भी मुश्किल है इस पोस्ट के प्रति आपकी क्या राय है हमें कमेंट करके ज़रुर बताये और अगर आपको यह पोस्ट पसंद आयी हो तो इसे लाइक करना ना भूलेऔर अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे आगे भी हम आपके लिए कुछ ऐसी ही जानकारी लेकर आएँगे तब तक के लिए अलविदा दोस्तों

जरूर पढ़े:  साउथ की यह 5 शानदार फ़िल्में आधारित है सच्ची घटना पर - ज़रुर देखे नंबर 1!

पूरी दुनिया में जिसे कोई देश नही कर पाया उसे भारत ने कर दिखाया – क्या है वो कारनामा चलिए जानते है!

कितने रूपये रखते है अंबानी अपनी जेब में खुद किया खुलासा – आप जानकर हैरान रह जायेंगे!